भारत के वीर जवानो तुमको नमन

National

आज देश को ज़रूरत हैं हर घर से एक सैनिक की देश की रक्षा के लिए उसकी सुरक्षा के लिए |बेहद ही दुखद दृश्य आज देश के शहीद सैनिको का पार्थिव देहः दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर लाया गया |प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी देगे शहीदों को श्रद्धांजलि ,राहुल गाँधी भी पहुंच सकते हैं | बेहद ही दुखद घटना देश का गुस्सा उबाल पर जिस तरह से देश की आज़ादी के लिए सभी लोग एक साथ आगे आये थे| उसी तरह आज फिर से देश से आतंकवादियों को खदेड़ ने के लिए सभी को एक साथ ,एक जुट होकर आगे आना होगा |आज की घटना एक बार फिर से देश मे नई क्रांति लाएगी |

कश्मीर के पुलवामा में हुए फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए।एक आत्मघाती हमलावर ने जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों पर दशकों तक सबसे घातक हमले में सीआरपीएफ के जवानों को ले जा रही एक बस में 350 किलोग्राम विस्फोटक ले जा रही एक एसयूवी को टक्कर मार दी थी। ये एक आत्म घाती हमला था |पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली|

इनमें से 12 जवान उत्तरप्रदेश के रहने वाले थे। जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद कुछ लोगों पर हमले और वाहनों को जलाए जाने के बाद शुक्रवार को जम्मू शहर के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू लगा दिया गया, जिसमें 40 से अधिक सुरक्षाकर्मी मारे गए।सूत्रों ने कहा कि एक दर्जन से अधिक लोग मॉब हमलों में घायल हुए हैं।इस घटना की जम्मू-कश्मीर के नेताओं महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला ने भी हिंसा की निंदा की।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा,पुलवामा में आतंकवादी हमले के पीछे उन लोगों को “भारी कीमत” चुकानी पड़ेगी, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कर्मियों पर गुरुवार के हमले की निंदा करते हुए कहा कि 40 से अधिक लोगों की जान गई। पीएम मोदी ने कहा,”आतंकवादियों ने एक बड़ी गलती की है। उनको बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी |गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज श्रीनगर का दौरा किया और एक सैनिक के शव के साथ ताबूत ले जाते हुए देखा गया। केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने बैठक के बाद कहा कि सरकार पाकिस्तान के “पूर्ण अलगाव” को सुनिश्चित करने के लिए सभी संभव राजनयिक कदम उठाएगी और देश को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर कैबिनेट कमेटी की बैठक में भाग लेने के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह श्रीनगर के लिए रवाना हो गए। श्री सिंह के साथ, पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली बैठक में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्री अरुण जेटली और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भाग लिया।राष्ट्रीय जांच एजेंसी या एनआईए की 12 सदस्यीय टीम आज घटनास्थल के फोरेंसिक मूल्यांकन में जम्मू-कश्मीर पुलिस की सहायता के लिए पुलवामा पहुंचेगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री ने कहा कि जवानों के पैतृक गांव के संपर्क मार्ग का नाम जवानों के नाम पर किया जाएगा। शहीद जवानों के अंतिम संस्कार में उत्तर प्रदेश सरकार के एक मंत्री, जिलाधिकारी और एसपी सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर मौजूद रहेंगे। इसके अलावा शुक्रवार को सभी थानों में दो मिनट का मौन रखा गया।और शहीद के परिवारवालों को सीएम ने शहीदों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी, 25 लाख की मदद का किया ऐलान किया | नमन देश के सभी शहीद सैनिको को उनकी क़ुरबानी व्यर्थ नहीं जाएगी इन्साफ ज़रूर मिलेगा उनकी शहादत को |

रोते बिलखते लोग खून से सनी सड़के परिवार से आखरी बार बात करने के बाद एक जवान जब ये सोचकर बैठा होगा की उसका परिवार और बच्चे ठीक हैं और जब निकलता हैं अपनी ड्यूटी पर उसे पता नहीं होता की अगले ही पल अगले ही मोड़ पर उसकी मौत खड़ी हैं |कितना मुश्किल सवाल हैं ये की क्या हमारे जवान शहीद होने के लिए तैनात हैं बॉर्डर पर या कश्मीर मे |

अगर ख़बरों की माने तो ये बात पहले ही मालूम हो चुकी थी की कोई न कोई आतंकी हमला हो सकता हैं, तो फिर जवानो को एयरलिफ्ट क्यों नहीं किया गया| क्यों जवानो की सुरक्षा को अनदेखा कर देते हैं हम |आज एक साथ ३७ शहीदों का एक साथ अंतिम संस्कार और उनके घरो के चिराग भी बुझ जायेगे हमेशा के लिए |

देश के सैनिको के लिए आज नमाज़ भी अता की गई मस्जिदों मे हमारे सैनिको की मगफिरत के लिए मुस्लिम समुदाय द्वारा ,वही मंदिरो और गुरुद्वारों मे भी पाठ किया जारहा हैं |आज पूरा देश और देश की सारी राजनितिक पार्टिया एक साथ खड़ी हैं हमारे देश के सैनिको के साथ | अब पकिस्तान को सबक सीखना ही होगा अब चुप रहने से नहीं, अब मुँह तोड़ जवाब देने से ही ठीक होगा ये आतंक और आतंकवादी की घटनाओ का सिलसिला |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *